मिस्र देश के बारे में 30 रोचक तथ्य

0
497

जितनी भी पुरानी चीजें इतिहास में मिली है उनकी आधी या तो प्राचीन मिस्र में मिली है या फिर प्राचीन रोम में ..बहुत आधुनिक थे यहाँ के इंसान. इसकी स्थापना 3150 B.C के आसपास हुई थी. चलिए आज मिस्र को डिटेल से जानते है …

1. जी हाँ प्राचीन मिस्र में यदि किसी के सामने से बिल्ली गुजर जाती थी तो घर के सभी सदस्यों को शोक के लिए अपनी सेली मुंडवानी पड़ती थी उस ज़माने में

2.  मिस्र सबसे ज्यादा आबादी वाला मुस्लिम देश होने के साथ-साथ नार्थ अफ्रीका का सबसे ज्यादा आबादी वाला देश भी माना जाता है|

3. प्राचीन मिस्र में करीब 1400 देवी-देवताओं की पूजा होती थी| और यहाँ के काफी देवी-देवताओं की पूजा करते थे|

4.  दुनिया की पहली ‘शांति संधि‘ का रिकॉर्ड मिस्र के पास है।

5. मिस्र की बहुत पुरानी कब्रों में टाॅयलेट्स भी पाए गए है।

6.  मिस्र वह पहला अरब देश है जिसने इजराइल से शांति बनाए रखने की शुरुआत की थी।

7. प्राचीन मिस्र में लोग मरे हुए इंसानो को पट्टियों में लपेटते थे, जिन्हें आज हम ममी कहते है. एक ममी पर 1.6km (1 mile) लंबी पट्टियाँ मिली है. कुछ मम्मियों में निकोटिन और कोकिन की थोड़ी मात्रा भी मिली है।

8.  प्राचीन मिस्र में तकिए के रूप में पत्थर का इस्तेमाल किया जाता था।

9. जब 1970 के मध्य में एक ममी को फ्रांस भेजा गया.तब इसके लिए मिस्र ने लीगल पासपोर्ट जारी किया था।

10. प्राचीन मिस्र में पुलिस ऑफिसर्स कुत्तों और लंगूर बंदरो को ट्रेनेड करने की कोशिश करते थे ताकि नौकरी में उनकी कुछ सहायता हो सके।

11. 446 से 1453 के बीच मिस्र में एक महामारी फैल गई थी जिसमें लगभग 40% आबादी मर गई थी।

12. 2014 से पहले तक मिस्र के किसी प्रधानमंत्री ने बिना जेल जाए या बिना मरे office नही छोड़ा था।

13.  प्राचीन मिस्र में किसी राजा ने कभी अपने बाल नही दिखाए, ये हमेशा अपने सिर पर कुछ पहनते थे जिसे “nemes” नाम दिया जाता था।

14. प्राचीन मिस्र में 30-30 दिन के 12 महीने होते थे. आखिर के 5 दिन त्योहार भी मनाए जाते थे ताकि साल के 365 दिन पूरे किये जा सके. इन्होनें घड़ियों का भी अविष्कार कर लिया था।

15. तूतनख़ामुन प्राचीन मिस्र का अकेला ऐसा इंसान था जिसे खड़े लिंग के साथ ममी बनाया गया था।

16. . प्राचीन मिस्र के फराहों पतले होते थे. उनकी खुराक में शराब, शहद, बीयर तथा ब्रेड और अधिक चीनी वाले पदार्थ थे. उनमें से कई मधुमेह के शिकार भी थे।

17. मिस्त्र के लोग ममियों को टूथ पिक के साथ दफनाते थे. माना जाता है कि प्राचीन मिस्र के निवासियों ने ही एक तरह की टूथपेस्ट की शुरुआत की थी. इसे बनाने में वे बैल के खुरों का पाउडर, जले हुए अंडे की छाल तथा राख के मिश्रण का प्रयोग करते थे।

18. किसी एक दिन में लगभग 629 लोगो को फाँसी को सजा सुनाने का रिकॉर्ड भी मिस्र के पास ही है.. 2013 में हुए दंगे के ज़ुर्म में 28 मार्च 2014 को मिस्र के एक क्रिमिनल कोर्ट ने फाँसी की सजा सुनाई थी।

19. मिस्र पर जब फिरौन का शासनकाल था तब वहाँ की मुद्रा दारू हुआ करती थी।

20.  प्राचीन मिस्र में अंधेपन के इलाज के दौरान सूअर की आँख मरीज़ के कान में डाली जाती थी।

21. .हिलेरी क्लिंटन जब 2012 में मिस्र आई थी तो उस पर भीड़ ने जूत्ते और टमाटर फेंके थे. ऐसा शायद पहली बार हुआ हो जब इतने बड़े नेता को दूसरे देश में इस तरह बेइज्जत किया गया हो।

22.  दुनिया की सबसे पुरानी ड्रेस मिस्र में पाई गई है जो 5,000 साल पुरानी है।

23. प्राचीन मिस्र में अंधेपन के इलाज के दौरान सूअर की आँख मरीज़ के कान में डाली जाती थी।

24. प्राचीन मिस्र की महिलाएं आजाद थी. ये जमीन खरीद सकती थीं, जज बन सकती थीं और अपनी वसीयत लिख सकती थीं. अगर वह बाहर काम करती थीं, तो उन्हें समान वेतन दिया जाता था. वह तलाक़ भी दे सकती थीं और फिर से शादी भी कर सकती थीं. वह शादी से पहले कॉन्ट्रैक्ट भी कर सकती थीं, जिसमें वह शादी में लाई गई वस्तुओं के बारे में अपने विचार रख सकती थीं।

25. प्राचीन मिस्र में बिल्लियों को मारने पर सीधे मौत की सजा मिलती थी।

26.  जब 1972 के मध्य में एक ममी को फ्रांस भेजा गया.. तब इसके लिए मिस्र ने लीगल पासपोर्ट जारी किया था।

27.  प्राचीन मिस्र में जब कोई मर जाता था तब उसी के चेहरे जैसा एक मास्क उसे पहना दिया जाता था ताकि आत्मा को दोबारा शरीर पहचानने में आसानी हो।

28.  प्राचीन मिस्र में अगर कोई बौना पैदा होता था, तो उसको बहुत खुशकिस्मत माना जाता था, क्योंकि उसका बौनापन उसको आसानी से नौकरी दिला देता था. नौकरी भी ऐसी-वैसी नहीं, बल्कि सोने के कारखाने में।

29.  मिस्र में मेकअप करना आवश्यक था. ये लोग सुरमा का प्रयोग ज़रूर करते थे. वो मानते थे कि हरा और काला सुरमा उन्हें सूर्य की किरणों, मक्खियों तथा हानिकारक संक्रमणों से बचाए रखता था।

30. गर्भधारण से बचने के लिए प्राचीन मिस्रवासी मिट्टी, शहद और मगरमच्छ के गोबर का एक मिश्रण बनाते थे. उस मिश्रण को महिला की योनि में डाल देते थे, जिससे महिला गर्भवती नहीं होती थी. इनका मानना था कि मगरमच्छ का गोबर एसिडिक होता है, जो शुक्राणुओं को मारता है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here